अफगानिस्तान: तालिबान को महिलाओं के क्रिकेट और दूसरे खेलों में हिस्सा लेने से दिक्कत नहीं, कहा- बस दूसरी टीमों की तरह छोटे कपड़ने न पहनें

0
5
Advertisement


  • Hindi News
  • International
  • Afghanistan Taliban Women | Taliban Says No Problem With Women Cricket But Doesn’t Allow Women To Wear Shorts

काबुल40 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (ACB) के चेयरमैन अजीजुल्लाह फाजली के मुताबिक, तालिबान ने महिलाओं के क्रिकेट खेलने पर किसी तरह की रोक नहीं लगाई है। फाजली का कहना है कि महिलाओं के क्रिकेट या दूसरे खेलों में हिस्सा लेने पर आधिकारिक तौर पर कोई बैन नहीं है, लेकिन उन्हें खेल के दौरान मजहबी उसूलों और रवायतों का ध्यान रखना होगा और वे दूसरी टीमों की तरह छोटे कपड़े नहीं पहन सकेंगी। फाजली ने छोटे कपड़ों का जिक्र फुटबॉल टीम के संदर्भ में किया।

महिला खिलाड़ियों को दिक्कत नहीं
‘अल जजीरा’ टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में ACB चेयरमैन ने अफगान महिलाओं के खेलों में शिरकत करने से संबंधित कुछ सवालों के साफगोई से जवाब दिए। कहा- तालिबान हुकूमत ने आधिकारिक तौर पर महिलाओं को किसी खेल से बैन नहीं किया है। खासतौर पर क्रिकेट की बात करें तो वे आराम से इस खेल में हिस्सा ले सकती हैं।

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद सबसे ज्यादा फिक्र महिलाओं के अधिकारों, नौकरी और खेल जैसी चीजों को लेकर है। सवाल उठ रहे हैं कि जब वे स्कूल, कॉलेज और नौकरी से महरूम हैं तो ऐसे में स्पोर्ट्स में हिस्सा कैसे लेंगी।

तालिबान से बातचीत
फाजली ने ऐसे ही एक सवाल के जवाब में कहा- हमने तालिबान सरकार के आला अफसरान से बातचीत की है। उन्होंने साफ कहा कि क्रिकेट या दूसरे खेलों में महिलाओं के हिस्सा लेने पर कोई पाबंदी नहीं है। वे खेलों में हिस्सा ले सकती हैं।

ACB चेयरमैन ने आगे कहा- महिलाओं को स्पोर्ट्स में हिस्सा लेते वक्त मजहब और कल्चर को जेहन में रखना होगा। खासतौर पर खेलते वक्त उनका ड्रेस कैसा हो, इस पर नजर रखना होगी। इस्लाम महिलाओं को छोटे कपड़े पहनने की इजाजत नहीं देता। खासतौर पर फुटबॉल खेलते वक्त ड्रेस का ध्यान रखना होगा।

हुकूमत की दखलंदाजी नहीं
क्रिकेट और दूसरे खेलों पर पूछे गए एक और सवाल पर फाजली ने कहा- तालिबान के आला अफसरों ने हमें भरोसा दिलाया है कि क्रिकेट या किसी दूसरे खेल में किसी तरह की सियासी दखलंदाजी नहीं की जाएगी। टी-20 वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने गई हमारी टीम की तैयारी भी अच्छी चल रही है। हमारे मुल्क में अब सिक्योरिटी भी पहले से काफी बेहतर हो गई है। मैं मानता हूं कि क्रिकेट में अफगानिस्तान का रसूख जल्द ही कायम होगा।

फाजली ने कहा- 2017 में हमें आईसीसी के फुल मेंबर का स्टेटस मिला था। नियमों में कहीं नहीं लिखा कि अगर आपकी महिला टीम नहीं होगी तो सदस्यता रद्द कर दी जाएगी। हमारे सामने बेहतर भविष्य है। हमारी महिला क्रिकेट टीम भी होगी।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here