कोरोना संकट: वैज्ञानिकों की ब्रिटेन को चेतावनी- अनलॉक दुनिया के लिए खतरा, वैक्सीन लगवा चुके ब्रिटेन के नए स्वास्थ्य मंत्री संक्रमित हुए

0
11
Advertisement


  • Hindi News
  • International
  • Scientists Warn Britain Danger To The Unlocked World, Britain’s New Health Minister, Who Got The Vaccine, Got Infected

लंदन/पेरिस/सिडनी/वॉशिंगटन9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

फ्रांस का एफिल टावर 9 माह बाद खुला। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद पहली बार इतने समय के लिए बंद हुआ।

ब्रिटेन सोमवार से अनलॉक होने जा रहा है। इस पर दुनिया के 1200 वैज्ञानिकों ने चिंता जताई है। उन्होंने चेतावनी दी है कि ब्रिटेन में अनलॉक पूरी दुनिया के लिए खतरा साबित होगा। ब्रिटेन वैश्विक परिवहन केंद्र है, यहां कोई नया वैरिएंट मिला तो उसे दुनिया में फैलने में देर नहीं लगेगी। दरअसल, मेडिकल जर्नल ‘लैंसेट’ में ब्रिटेन की अनलॉक योजना को लेकर एक रिपोर्ट छपी है। इसमें कहा गया है कि ब्रिटेन में अनलॉक होने से वैक्सीन प्रतिरोधी वैरिएंट को फैलने का मौका मिलेगा। वैज्ञानिकों ने इसके समर्थन में ‘लैंसेट’ को चिट्‌ठी लिखी है।

न्यूजीलैंड के विशेषज्ञ माइकल बेकर ने कहा- ‘हम वैज्ञानिक विशेषज्ञता के लिए ब्रिटेन से प्रेरणा लेते रहे हैं। अब ब्रिटेन की अनलॉक की योजना हमें चौंका रही है। इधर, ब्रिटेन में 15 जनवरी के बाद पहली बार एक दिन में 50 हजार से ज्यादा नए मरीज मिले हैं। शुक्रवार को यहां 51,870 नए मरीज मिले थे। अभी देश में 8,18,421 सक्रिय कोराना मरीज हैं। दूसरी ओर, वैक्सीन के दोनों डोज ले चुके ब्रिटेन के नए स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद (51) शनिवार को कोरोना पॉजिटिव पाए गए। वे सेल्फ आइसोलेशन में हैं।

बीटा वैरिएंट का डर: फ्रांस से ब्रिटेन आने वाले क्वारेंटाइन होंगे

फ्रांस में कोरोना के बीटा वैरिएंट ने चिंता बढ़ा दी है। यहां इस वैरिएंट के रोज 5,000 नए केस मिल रहे हैं। यह वैरिएंट सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में मिला था। विशेषज्ञों के अनुसार इस वैरिएंट पर एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के प्रभावी होने की संभावना कम है। इसके बाद ब्रिटेन ने फैसला किया है कि वह फ्रांस से आने वाले लोगों को 10 दिन क्वारेंटाइन में रखेगा, भले ही उन्होंने पूर्ण टीकाकरण करा लिया हो। ब्रिटेन ने यह पांबदी सिर्फ फ्रांस से लौटने वाले लोगों के लिए तय की है। अन्य देशों को इससे छूट रहेगी।

ऑस्ट्रेलिया: न्यू साउथ वेल्स में स्थिति गंभीर, पीपीई किट भी कम पड़ीं

ऑस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स में 111 नए मरीज मिले हैं। यहां 97 दिन बाद इतने अधिक मरीज आए हैं। इसलिए प्रशासन ने कई उपनगरों से लोगों के आवागमन पर रोक लगा दी है। ऑस्ट्रेलिया ‘शून्य कोरोना नीति’ का पालन कर रहा है। अभी यहां 1,126 सक्रिय मरीज हैं। इधर, न्यू साउथ वेल्स के सिडनी शहर में पीपीई किट की भारी कमी हो गई है। इसके बाद सफाईकर्मियों ने अस्पताल में सफाई करने से इनकार कर दिया है। प्रशासन ने सिडनी में शनिवार से खुदरा दुकानें और अन्य कार्यस्थल बंद रखने के आदेश दिए हैं।

अमेरिका, फ्रांस, स्पेन समेत कई देशों में फिर बढ़ने लगे नए कोरोना मामले

अमेरिका में भी कोरोना के केस बढ़ने लगे हैं। यहां शुक्रवार को 40500 से ज्यादा नए केस मिले। यह आंकड़ा 8 मई के बाद सबसे ज्यादा है। इसके अलावा, ब्राजील में 45591, फ्रांस में 10908, स्पेन में 31008, इंडोनेशिया में 54 हजार और रूस में 25 हजार से ज्यादा केस मिले। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, डेल्टा वैरिएंट 106 से ज्यादा देशों में फैल चुका है। ज्यादातर देशों में इसी वैरिएंट के केस बढ़े हैं। हालांकि, एक रिसर्च के मुताबिक, वैक्सीन लगवाने वालों को डेल्टा वैरिएंट से मौत का खतरा 99% तक कम है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here