चीन के खिलाफ बड़ा कदम: शिंजियांग में बने उत्पादों को अमेरिका नहीं खरीदेगा, क्योंकि यहां उइगर मुस्लिमों पर अत्याचार होता है; सीनेट में बिल पास

0
16
Advertisement


वॉशिंगटन6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बाइडेन प्रशासन ने बीते कुछ हफ्तों में चीन सरकार के खिलाफ लगाए प्रतिबंधों काे बढ़ा दिया है और कई ऐसी चीनी कंपनियों को ब्लैकलिस्ट कर दिया है जो चीन की सेना से जुड़ी हैं या जो शोषण में शामिल हैं। 

चीन के शिंजियांग प्रांत में अल्पसंख्यक समुदायों, खासतौर से उइगर मुस्लिमों के साथ जो अमानवीय बर्ताव होता है, वह दुनिया से छुपा नहीं है। इस पर विरोध जताने के लिए अमेरिका ने व्यापार को हथियार बनाया है। अमेरिकी सीनेट ने बुधवार को एक बिल पास किया जिसके मुताबिक, अब अमेरिका शिंजियांग प्रांत से कोई सामान नहीं खरीदेगा।

फ्लोरिडा के सीनेटर मारको रूबियो और ओरेगॉन के सीनेटर जेफ मर्कली ने इस कानून को पेश किया। बिल पास होने के बाद उन्होंने बयान दिया कि, बीजिंग और वे सभी कंपनियां जो बंधुआ मजदूरी से मुनाफा कमाती हैं, उनके लिए यह संदेश है- ‘अब और नहीं।’ इस बिल को अब हाउस ऑफ रिप्रिसेंटेटिव्स के पास भेजा जाएगा। वहां से पारित होने के बाद राष्ट्रपति जो बाइडेन इस पर साइन करके इसे कानून बनाएंगे।

क्रूरता को नजरअंदाज नहीं करेगा अमेरिका
दोनों सांसदों ने कहा कि अमेरिका इंसानियत के खिलाफ चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के अपराधों को नजरअंदाज नहीं करेगा। न ही अब कंपनियां शोषण से मुनाफा कमा पाएंगी। मर्कली ने कहा कि, शिंजियांग में उइगर और अन्य मुस्लिम अल्पसंख्यक समुदायाें के साथ बेहद क्रूर बर्ताव हो रहा है। चीन सरकार इनसे बंधुआ मजदूरी करा रही है, इन्हें जेल में डाल रही है, जबरदस्ती स्टेरेलाइज कर रही है और अपनी धार्मिक और सांस्कृतिक परंपराएं छोड़ने को मजबूर कर रही है।

किसी अमेरिकी को नहीं खरीदने चाहिए ऐसे उत्पाद
मर्कली ने कहा कि, किसी अमेरिकी कंपनी को शोषण से मुनाफा नहीं कमाना चाहिए। न ही किसी अमेरिकी नागरिक को स्लेव लेबर के उत्पादों का इस्तेमाल करना चाहिए। बाइडेन प्रशासन ने बीते कुछ हफ्तों में चीन सरकार के खिलाफ लगाए प्रतिबंधों काे बढ़ा दिया है और कई ऐसी चीनी कंपनियों को ब्लैकलिस्ट कर दिया है जो चीन की सेना से जुड़ी हैं या जो इस शोषण में शामिल हैं।

कई बड़े ब्रांड बंधुआ मजदूरी से करते हैं मोटी कमाई
शिंजियांग के उत्पाद ग्लाेबल सप्लाई चेन में प्रमुख जगह रखते हैं। नाइक और कोकाकोला उन कंपनियों में शामिल हैं जो उइगर फोर्स्ड लेबर प्रिवेंशन एक्ट के खिलाफ लॉबी कर रही थीं, क्योंकि इससे उनके मुनाफे पर असर पड़ेगा।

बाइडेन प्रशासन की कड़ी चेतावनी
मंगलवार को बाइडेन प्रशासन ने एडवाइजरी जारी करके कंपनियों को चेतावनी दी कि अगर वे शिंजियांग प्रांत की किसी सप्लाई चेन के साथ व्यापार करेंगी या वहां पर इन्वेस्टमेंट करेंगी तो उन्हें बंधुआ मजदूरी पर अमेरिकी कानून के उल्लंघन का दोषी माना जाएगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here