ट्रांसपोर्ट मंत्री वड़िंग का दिल्ली सरकार पर हमला: कहा- पंजाब की सरकारी बसों को दिल्ली एयरपोर्ट पर नहीं जाने दे रहे और प्राइवेट को छूट; केजरीवाल से मिलने का वक्त मांगा

0
14
Advertisement


  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Transport Minister Vading’s Attack On The Delhi Government, Said Punjab’s Government Buses Are Not Being Allowed To Go To Delhi Airport And Private Is Free; Sought Time To Meet Kejriwal

जालंधर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

पंजाब की सरकारी बसों को दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट नहीं जाने देने का मुद्दा फिर गरमा गया है। राज्य के नए ट्रांसपोर्ट मंत्री अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने इसे उठाया है। उनका कहना है कि दिल्ली सरकार प्राइवेट बसों को जाने दे रही है। वहीं, सरकारी पर रोक लगाई गई है। उन्होंने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को पत्र भेजा है। जिसमें उनसे और दिल्ली के ट्रांसपोर्ट मंत्री से मिलने का वक्त मांगा है। जिसमें वो मंत्री के स्तर पर इस मुद्दे को उठाएंगे। इसके बाद अब दिल्ली सरकार के रुख का इंतजार किया जा रहा है।

नवंबर 2018 में दिल्ली सरकार ने लगा दी थी रोक
पंजाब के ट्रांसपोर्ट मंत्री राजा वड़िंग ने कहा कि दिल्ली ट्रांसपोर्ट विभाग ने पंजाब की सरकारी बसों को नवंबर 2018 में दिल्ली एयरपोर्ट पर जाने से रोक दिया। सरकारी बसें एयरपोर्ट से सस्ते किराए में सवारियों को लाती और ले जाती थी। उन्होंने इसे केजरीवाल सरकार की बेरूखी बताया। वड़िंग बोले कि इसके उलट प्राइवेट बसों को इसकी छूट दी गई है।

पंजाब के ट्रांसपोर्ट मंत्री अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग का दिल्ली के CM को लिखा लेटर।

पंजाब के ट्रांसपोर्ट मंत्री अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग का दिल्ली के CM को लिखा लेटर।

दिल्ली के CM, ट्रांसपोर्ट मंत्री और अफसरों से लाभ नहीं हुआ
मंत्री वड़िंग ने कहा कि इस बारे में पहले भी पंजाब ट्रांसपोर्ट विभाग ने दिल्ली सरकार के प्रतिनिधियों के साथ कई मीटिंग की हैं। दिल्ली के CM और ट्रांसपोर्ट मंत्री को कई पत्र भी लिखे जा चुके हैं। फिर भी इसका कोई लाभ नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि मंत्री होने के नाते अब वे दिल्ली सरकार से तालमेल कर सरकारी बस सेवा बंद करने के फैसले को रद्द कराएंगे।

सरकारी बस के बहाने बादल परिवार पर निशाना
मंत्री राजा वड़िंग ने दिल्ली सरकार को कम किराए पर सुविधा की बात कही है। यह सही भी है क्योंकि प्राइवेट बसों को ही मंजूरी की वजह से मनमाने किराए देने पड़ते हैं। हालांकि इसका सियासी पहलू भी है। दिल्ली एयरपोर्ट पर अभी इंडो-कैनेडियन ट्रांसपोर्ट की बसें चलती हैं। जिनका संबंध बादल परिवार की ट्रांसपोर्ट से बताया जाता है। ऐसे में साफ है कि मंत्री वड़िंग इसके बहाने बादल परिवार पर ही निशाना साध रहे हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here