दाखिले की दौड़: मेरिट पर ही दाखिला लेगा डीयू, 2020 जैसी हो सकती है कटऑफ, यूजीसी कैलेंडर जारी

0
9
Advertisement


  • Hindi News
  • National
  • DU Will Take Admission On Merit Only, Cutoff May Be Like 2020, UGC Calendar Released

11 मिनट पहलेलेखक: अनिरुद्ध शर्मा

  • कॉपी लिंक

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) ने घोषणा कर दी है कि वह 12वीं की मेरिट के आधार पर ही दाखिले लेगा।

यूजीसी ने 2021-22 का संशोधित कैलेंडर तैयार किया है। देशभर के विश्वविद्यालयों में नया सत्र एक अक्टूबर से शुरू होगा। दाखिला प्रक्रिया अगस्त-सितंबर में चलेगी, हालांकि कुछ कॉलेजों में यह प्रक्रिया शुरू भी हो चुकी है। कोरोना के चलते इस बार 12वीं की परीक्षा रद्द होने के बाद सबसे ज्यादा असमंजस इसी बात पर है कि कॉलेजों में दाखिले का फॉर्मूला क्या होगा।

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) ने घोषणा कर दी है कि वह 12वीं की मेरिट के आधार पर ही दाखिले लेगा। इस बार भी सेंट्रल युनिवर्सिटीज कॉमन एंट्रेस टेस्ट (सीयूसेट) के लागू होने की संभावना नहीं है। ऐसे में डीयू के कॉलेजों में पहली कटऑफ पिछले वर्ष यानी 2020 के बराबर ही रहने के आसार हैं।

दाखिला प्रक्रिया से जुड़े डीयू के प्रोफेसर ने बताया कि 12वीं के नतीजे स्कूलों के पिछले तीन वर्षों में सबसे बेहतर रिजल्ट के आधार पर तैयार हो रहे हैं। बीते तीनों वर्षों यानी 2018, 2019 व 2020 में सबसे अच्छे नतीजे 2020 में ही थे। ऐसे में मेरिट का ढांचा 2020 के जैसा ही होगा। इसलिए उम्मीद यही है कि डीयू की पहली कटऑफ 2020 के जैसी ही रहेगी। डीयू में ग्रेजुएशन में दाखिले की प्रक्रिया 2 अगस्त से शुरू होगी, रजिस्ट्रेशन 31 अगस्त तक होंगे। दाखिला प्रक्रिया ऑनलाइन होगी। फीस या सीटों में बदलाव नहीं है।

2020 में ये था हाल

  • 99.75 – 100% तक कटऑफ बीए इकोनॉमिक्स ऑनर्स व बीकॉम ऑनर्स के टॉप कॉलेजों में
  • 99% कटऑफ बीए ऑनर्स इंग्लिश की मिरांडा हाउस में
  • 99% कटऑफ गई थी मैथ्स ऑनर्स की हिंदू कॉलेज में

इस बार 10 महीने का ही कॉलेज सत्र

  • 31 जुलाई तक सभी शिक्षा बोर्डों के 12वीं के नतीजे आने के बाद दाखिला प्रक्रिया शुरू करें कॉलेज।
  • प्रथम वर्ष के दाखिले 30 सितंबर तक। 1 अक्टूबर से नया सत्र। खाली सीटें 31 अक्टूबर तक भरें।
  • सत्र का समापन 31 जुलाई, 2022 तक करना है। यानी सत्र 2021-22 10 महीने का होगा।
  • 12वीं के नतीजे में देरी हो तो नया सत्र 18 अक्टूबर से। समापन 31 जुलाई, 2022 तक ही होगा।
  • मौजूदा सत्र 2020-21 की टर्मिनल या फाइनल परीक्षा हर हाल में 31 अगस्त तक करा लें।
  • 2021-22 में 31 अक्टूबर तक दाखिला रद्द या माइग्रेशन कराने वालों की पूरी फीस लौटा दी जाए।
  • 1 नवंबर से 31 दिसंबर के बीच भी दाखिला रद्द हो तो अधिकतम 1000 रु. प्रोसेसिंग फीस ही काटें।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here