दुनिया की सबसे पुरानी रेसलिंग: 13 किलो चमड़े का ट्राउजर पहन और तेल में नहाकर भिड़े 2160 रेसलर, ताकि गोल्डन बेल्ट हासिल कर सकें

0
8
Advertisement


  • Hindi News
  • International
  • World’s Oldest Wrestling; Wearing 13 Kg Leather Trousers And Bathing In Oil, 2160 Wrestlers Clashed, So That They Could Get The Golden Belt

तुर्कीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

अली गुरबेज ने 41 साल के इस्माइल को हराया।

तुर्की के एडिर्न में एक रेसलिंग हुई। इसमें 2160 रेसलर्स ने हिस्सा लिया। कुश्ती खास रही, क्योंकि इसमें हिस्सा लेने के लिए रेसलर्स को 13 किलो वजनी चमड़े का ट्राउजर पहना। इसके बाद तेल या ग्रीस से नहाया। फिर मैदान में उतरे और अपने प्रतिद्वंदी से भिड़े। दरअसल, यह कुश्ती (ऑयल रेसलिंग) तुर्की का राष्ट्रीय खेल है। इसे पहली बार 13वीं सदी में मनाया गया था। इस साल इस ऐतिहासिक खेल की 660वीं वर्षगांठ मनाई गई।

स्थानीय लोग बताते हैं कि इस कुश्ती का आयोजन जून के अंत या जुलाई की शुरुआत में होता है। इसके लिए लोग महीनों से तैयारी करते हैं। इसमें 15 से ऊपर के लोग वर्ग के आधार पर हिस्सा लेते हैं। कुश्ती के दौरान डॉक्टरों की टीम भी तैनात होती है। इस साल भी यह राष्ट्रीय खेल धूमधाम से मनाया गया। इसे देखने हजारों लोग भी पहुंचे।

खास बात यह है कि यह खेल देश को समर्पित है। इसमें सेना के जज्बे को बनाए रखने के लिए हर साल मनाया जाता है। जीतने वाले को गोल्डन बेल्ट और टाइटल दिया जाता है। इस राष्ट्रीय खेल के आयोजक बताते हैं कि जब यह कुश्ती शुरू हुई, तब यह 40 मिनट की होती थी। यदि इस दौरान कोई विजेता नहीं मिलता है तो दोनों रेसलर्स के बीच 15 मिनट की कुश्ती दोबारा होती थी। लेकिन 1975 में इसका समय घटाकर 30 मिनट कर दिया गया। इसके अलावा 15 मिनट का समय भी 10 मिनट कर दिया गया।

42 साल के अली जीते; यूनेस्को की कल्चरल सूची में शामिल है खेल
राष्ट्रीय फेस्टिवल के तहत 3 दिन में 2160 रेसलर्स ने हिस्सा लिया। इसमें 42 साल के अली गुरबेज ने इस्माइल को हराकर गोल्डन बेल्ट और टाइटल हासिल किया। उन्होंने लगातार दूसरे साल यह जीत हासिल की है। इस खेल की प्रसिद्धि और ऐतिहासिक प्रमाण देखते हुए 2010 में यूनेस्को ने इसे कल्चरल हैरिटेज की सूची में शामिल किया था।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here