बॉक्सिंग में देश की सबसे बड़ी उम्मीद: मेरीकॉम बोलीं- मेरे पास सब तरह के मेडल हैं, लेकिन जो मैं चाहती हूं वह गोल्ड मेडल मेरे पास अभी तक नहीं है

0
7
Advertisement


  • Hindi News
  • Sports
  • Olympic Games Tokyo 2021 Update Mary Kom News Mary Kom Said I Have All Kinds Of Medals, But I Still Do Not Have The Gold Medal That I Want

नई दिल्लीएक घंटा पहले

ओलिंपिक का नाम सुनते ही भारतीय खेल प्रशंसकों के जेहन में जिन खेलों का नाम बहुत जल्द आता है, उनमें बॉक्सिंग भी शामिल है। 2008 में विजेंद्र सिंह ने बॉक्सिंग में भारत को पहला मेडल (ब्रॉन्ज) दिलाया था। वहीं महिला बॉक्सिंग की चर्चा आते ही मेरीकॉम का नाम सबसे ऊपर आता है। मेरीकॉम ने 2012 लंदन ओलिंपिक में देश के लिए ब्रॉन्ज मेडल जीता था। वे दूसरी बार ओलिंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करेंगी।

मेरीकॉम 6 बार की वर्ल्ड चैंपियन हैं और 5 बार एशियन विजेता हैं। उनसे इस बार मेडल जीतने की काफी उम्मीदें हैं। मेरीकॉम ने इस साल मई में कजाकिस्तान में आयोजित एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीकर अपना इरादा जाहिर कर दिया है। मेरीकॉम ने कहा कि मेरे पास सब तरह के मेडल हैं, लेकिन जो मैं चाहती हूं, वह गोल्ड मेडल मेरे पास अभी तक नहीं है।

मेरीकॉम तीन भाई-बहनों में सबसे बड़ी
मेरीकॉम का जन्म मणिपुर के चुराचांदपुर जिले के मोइरंग लमखाई गांव में हुआ था। उनके माता-पिता खेती करते थे। मेरीकॉम भी अपने माता-पिता के साथ खेती के काम में मदद करती थीं। तीन भाई-बहनों में मेरीकॉम सबसे बड़ी थीं। उनकी एक छोटी बहन और एक भाई है।

डिंग्को सिंह से प्रभावित होकर बॉक्सिंग शुरू की
मेरीकॉम शुरुआत में एथलेटिक्स करती थीं। वे स्कूल लेवल तक जेवलिन थ्रोअर थीं, लेकिन 1998 एशियन गेम्स में डिंग्को सिंह के गोल्ड मेडल जीतने से प्रभावित होकर उन्होंने बॉक्सिंग की ट्रेनिंग शुरू की। 15 साल की उम्र में उनका एडमिशन इंफाल में स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के रीजनल सेंटर में हो गया। उसके बाद उन्होंने वहां के कोचों की निगरानी में ट्रेनिंग की और उसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा।

मेरीकॉम बतौर सांसद पहली बार ओलिंपिक में
मेरीकॉम सांसद के तौर पर पहली बार ओलिंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करेंगी। उन्हें 2016 अप्रैल में राष्ट्रपति ने राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किया था। वहीं 2017 में युवा एवं खेल मंत्रालय ने उन्हें और 2008 के ओलिंपिक मेडलिस्ट विजेंद्र सिंह को बॉक्सिंग का ऑबजर्वर नियुक्त किया था।

वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में 8 मेडल जीते हैं
मेरीकॉम ने वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में 6 गोल्ड सहित कुल 8 मेडल जीते हैं। उन्होंने 2002, 2005, 2006, 2008, 2010, 2018 में गोल्ड मेडल जीते। जबकि 2001 में सिल्वर और 2019 में ब्रॉन्ज मेडल जीता।

एशियन चैंपियनशिप में 7 मेडल जीते
मेरीकॉम ने एशियन चैंपियनशिप में अब तक 7 मेडल जीते हैं। उन्होंने 2003, 2005, 2010, 2012 और 2017 में गोल्ड मेडल जीते। जबकि 2008 और 2021 में सिल्वर मेडल जीतने में सफल हुईं।

एशियन गेम्स में दो मेडल
वे एशियन गेम्स में दो मेडल जीत चुकी हैं। उन्होंने 2014 इंचियोन एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल और 2010 में ब्रॉन्ज मेडल जीता। जबकि 2018 गोल्डकोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीता।



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here