ब्लू ओरिजिन की एक और उड़ान कामयाब: 90 साल के विलियम स्पेस में जाने वाले सबसे उम्रदराज शख्स बने, 11 मिनट की उड़ान में रचा इतिहास

0
8
Advertisement


  • Hindi News
  • International
  • Blue Origin Space Tour News And Updates | Jeff Bezos’ Blue Origin Successfully Launches Crew With Oldest Man To Space And Back

न्यूयॉर्क4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जेफ बेजोस की कंपनी ब्लू ओरिजिन के रॉकेट ने इस साल पांचवी बार स्पेस तक का सफर सफलतापूर्वक पूरा कर इतिहास रच दिया है। बुधवार को हुई इस उड़ान में कनाडा के एक्टर विलियम शेटनर भी क्रू के तौर पर शामिल थे। उनकी उम्र 90 साल है। NS-18 नाम के रॉकेट से एक कैप्सूल लॉन्च किया गया। इसमें 4 क्रू मेंबर थे। इनमें विलियम के अलावा ब्लू ओरिजिन के वाइस प्रेसिडेंट ऑड्रे पॉवर्स, प्लांट लैब के को-फाउंडर क्रिस बासहुईजेन और मेडिडेटा के कोफाउंडर ग्लेन डि व्रिस भी शामिल थे ।

कुल 11 मिनट की रही उड़ान
ब्लू ओरिजिन के पास अमेरिका के वेस्ट टेक्सॉस में अपना लॉन्च पैड और प्राइवेट फैसिलिटी है। यहीं से रॉकेट ने उड़ान भरी। इसके कुछ मिनट बाद ही यह स्पेसक्राफ्ट धरती पर उतर आया। शुरू से आखिर तक इस मिशन में कुल 11 मिनट लगे। इनमें से 3 मिनट सबसे रोमांचक रहे, जब क्रू ने करीब 3 मिनट तक भारहीनता यानी weightlessness में गुजारे। इस दौरान व्यक्ति का वजन बिल्कुल शून्य होता है और वो हवा में उड़ सकता है।

क्रू पैराशूट्स के जरिए टेक्सॉस के रेगिस्तानी इलाके में उतरे।

क्रू पैराशूट्स के जरिए टेक्सॉस के रेगिस्तानी इलाके में उतरे।

फिल्मों से हकीकत तक का सफर
दिलचस्प बात यह है कि विलियम शेटनर ने हॉलीवुड की सुपरहिट सीरीज ‘स्टार ट्रैक’ में कैप्टन किर्क का रोल प्ले किया था। इस बार वे हकीकत में एक ऐसे मिशन का हिस्सा बने, जिसे स्पेस टूरिज्म की दिशा में बेहद अहम और कामयाब बताया जा रहा है। उनकी उम्र 90 साल है। इसके पहले वेली फेन्क ने 82 साल की उम्र में स्पेस का रुख किया था। यह मिशन भी ब्लू ओरिजिन का था और इस पहले मिशन को जुलाई में लॉन्च किया गया था।

ब्लू ओरिजिन ब्लास्ट ऑफ यानी उड़ान के वक्त।

ब्लू ओरिजिन ब्लास्ट ऑफ यानी उड़ान के वक्त।

रॉकेट की रफ्तार आवाज से तीन गुना
मिशन के दौरान रॉकेट की रफ्तार ध्वनि की रफ्तार से तीन गुना ज्यादा थी। एक और खास बात यह है कि यह रॉकेट पूरी तरह ऑटोनॉमस मोड पर था, इसमें कोई पायलट नहीं था। लौटते वक्त क्रू ने पैराशूट्स का सहारा लिया और ये टेक्सॉस के रेगिस्तानी इलाके में सुरक्षित उतर गए। इस रॉकेट को भविष्य में फिर इस्तेमाल किया जा सकता है। इस रॉकेट का इस्तेमाल कार्गो मिशन में भी किया जा सकता है।

उड़ान से पहले ब्लू ओरिजिन के मेंबर।

उड़ान से पहले ब्लू ओरिजिन के मेंबर।

बेजोस ने जुलाई में लॉन्च की थी स्पेस टूरिज्म सर्विस
ब्लू ओरिजिन के जेफ बेजोस ने पहली स्पेस फ्लाइट इसी साल जुलाई में लॉन्च की थी। स्पेस टूरिज्म सेक्टर में उनका मुकाबला वर्जिन अटलांटिक के सर रिचर्ड ब्रेन्सन से है। रिचर्ड और बेजोस स्पेस टूरिज्म को नए स्तर पर ले जाने की कोशिश कर रहे हैं। बेजोस का कहना है कि ब्लू ओरिजिन अब तक 100 मिलियन के टिकट बेच चुकी है। हालांकि बुधवार को किस पैसेंजर यानी क्रू को कितने डॉलर में टिकट दी गई, इसका खुलासा अब तक नहीं किया गया है।

प्राइवेट स्पेस टूरिज्म को लेकर पिछले दिनों अमेरिका के फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन ने कुछ सवाल भी उठाए थे। इससे जुड़ा एक गैर सरकारी संगठन भी यही कर चुका है। ब्लू ओरिजिन के सीईओ बॉब स्मिथ ने इन सवालों को ही गलत बता दिया था।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here