मणिपुर में कांग्रेस का किला ढहा: कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंददास कोंथौजम ने पद से इस्तीफा दिया, कांग्रेस के 8 विधायक आज भाजपा में शामिल हो सकते हैं

0
7
Advertisement



  • Hindi News
  • National
  • Manipur Congress Committee President Govinddas Konthoujam Resigns From His Post, 8 Congress MLAs Likely To Join BJP

इंफाल13 मिनट पहले

पूर्वोत्तर राज्य मणिपुर की प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंददास कोंथौजम ने मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। माना जा रहा है कि कोंथौजम के साथ कांग्रेस के कम से कम 7 अन्य विधायक मंगलवार को ही भाजपा में शामिल होंगे। कोंथौजम राज्य की विधानसभा में बिष्णुपुर से विधायक हैं।

विधानसभा की कुल 60 सीटों में से राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन (NDA) की सरकार के पास 36 सीटें हैं। गठबंधन में भाजपा (24 सीटें), नेशनल पीपुल्स पार्टी (4 सीटें), नागा पीपुल्स फ्रंट (4 सीटें), लोकजनशक्ति पार्टी (एक सीट) और स्वतंत्र (3 सीटें) शामिल हैं। विपक्ष में कांग्रेस के पास 17 सीटें, तृणमूल कांग्रेस के पास एक सीट और 6 सीटें खाली पड़ी हैं।

मणिपुर विधानसभा में होते रहे हैं विधायकों के फेरबदल
अगर कांग्रेस के 8 विधायक भाजपा का दामन थामते हैं तो भाजपा में 44 विधायक हो जाएंगे, जबकि कांग्रेस में सिर्फ 9 विधायक रह जाएंगे। 2017 के विधानसभा चुनावों के बाद से ही मणिपुर सरकार पर संकट मंडराते रहे हैं। इन चुनावों में भाजपा ने 21, जबकि कांग्रेस ने 28 सीटें जीती थीं। सरकार बनाने के लिए 31 सीटें जीतना जरूरी है। ऐसे में भाजपा ने गठबंधन की सरकार बना ली। गठबंधन के पास 40 सीटें थीं।

2020 में नौ विधायकों ने एनडीए सरकार से समर्थन वापस लिया था
पिछले साल जून में मणिपुर में मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह की सरकार से नौ विधायकों ने अपना समर्थन वापस ले लिया था। इसमें भाजपा के तीन, नेशनल पीपुल्स पार्टी (NPP) के चार और दो स्वतंत्र विधायक शामिल थे। खबरें थी कि भाजपा विधायक कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। इसके बाद कांग्रेस के पास विधानसभा में 31 सीटें हो गई थीं। कुछ दिन बाद ही NPP के चारों विधायक सरकार में वापस आ गए, जिससे NDA सत्ता में बनी रही।



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here