यूरोप के कई देशों में बाढ़ से तबाही: जर्मनी में 68 लोगों की मौत, करीब 100 लापता; अमेरिका की यात्रा पर गईं चांसलर एंजेला मर्केल ने कहा- दिल टूट गया

0
10
Advertisement


  • Hindi News
  • International
  • Western Europe Countries Germany Belgium Flood Heavy Rain Death Numbers Missing People Photos

2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जर्मनी दूसरे विश्व युद्ध के बाद अब तक की सबसे घातक मौसम आपदा ले जूझ रहा है। लक्जमबर्ग, नीदरलैंड और बेल्जियम में भी असामान्य रूप से भारी बारिश हो रही है। 

पश्चिमी यूरोप के कई देश इन दिनों भीषण बाढ़ का सामना कर रहे हैं। भारी बारिश और बाढ़ के चलते जर्मनी में अब तक 59 और बेल्जियम में 9 लोगी की मौत हुई है। पश्चिमी जर्मनी में यूकिर्शेन इलाके के अधिकारियों ने बताया कि वहां बाढ़ के चलते 15 लोगों की मौत हुई। वहीं, आरवीलर काउंटी में 18 लोगों की, रीनबैच में तीन की और कोलोन में दो लोगों की बाढ़ के कारण मारे गए।

एहरेवीलर काउंटी के अधिकारियों ने कहा कि बाढ़ के चलते एफेल इलाके के शुल्ड गांव में बीती रात कई मकान नष्ट हो गए, जिसके कारण कई लोगों की मौत हुई और करीब 70 लोग लापता हैं। उन्होंने कहा कि कई लोग घरों की छतों पर फंसे हैं और मदद का इंतजार कर रहे हैं। अधिकारियों ने राहत-बचाव कार्य में नौकाओं और हेलीकॉप्टरों को लगाया है। जर्मनी की सेना ने राहत कार्य में मदद के लिए 200 सैनिकों को भेजा है।

हाल के दिनों में आए तूफान और भारी बारिश की वजह से नदियां और जलाशय उफान पर हैं, जिससे उनके तटबंध टूट गए हैं और अचानक बाढ़ आ गई।

हाल के दिनों में आए तूफान और भारी बारिश की वजह से नदियां और जलाशय उफान पर हैं, जिससे उनके तटबंध टूट गए हैं और अचानक बाढ़ आ गई।

लक्जमबर्ग, नीदरलैंड और बेल्जियम में भी असामान्य बारिश
जर्मनी दूसरे विश्व युद्ध के बाद अब तक की सबसे घातक मौसम आपदा ले जूझ रहा है। लक्जमबर्ग, नीदरलैंड और बेल्जियम में भी असामान्य रूप से भारी बारिश हो रही है। हाल के दिनों में आए तूफान और भारी बारिश की वजह से नदियां और जलाशय उफान पर हैं, जिससे उनके तटबंध टूट गए हैं और अचानक बाढ़ आ गई। बाढ़ के चलते सड़कें जलमग्न हो गईं, अनेक कारें पानी में बह गईं और इमारतें नष्ट हो गईं। फोन और इंटरनेट संपर्क टूट जाने के कारण राहत और बचाव कार्य में बाधा आ रही है।

बाढ़ के चलते सड़कें जलमग्न हो गईं, अनेक कारें पानी में बह गईं और इमारतें नष्ट हो गईं। फोन और इंटरनेट संपर्क टूट जाने के कारण राहत और बचाव कार्य में बाधा आ रही है।

बाढ़ के चलते सड़कें जलमग्न हो गईं, अनेक कारें पानी में बह गईं और इमारतें नष्ट हो गईं। फोन और इंटरनेट संपर्क टूट जाने के कारण राहत और बचाव कार्य में बाधा आ रही है।

अमेरिका की यात्रा पर गई हैं जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल
जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल इन दिनों अमेरिका की यात्रा पर हैं। उन्होंने कहा कि बाढ़ पीड़ितों की हालत देखकर उनका ‘दिल टूट गया’ है। उन्होंने कहा- “मुझे डर है कि हम आने वाले दिनों में और भी आपदाएं देख सकते हैं। संकट के दौरान लोगों की मदद के लिए पूरी कोशिश की जा रही है।”

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने जताई गहरी संवेदना
चासंलर मर्केल के साथ बातचीत के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने जर्मनी को बाढ़ को एक त्रासदी बताया। उन्होंने कहा, “जर्मनी और पड़ोसी देशों में पिछले 24 घंटों में बाढ़ के कारण हुए विनाश को लेकर मैं गहरी संवेदना जाहिर करता हूं। जीवन और विनाशकारी नुकसान के लिए अमेरिकी लोगों की ओर से भी गहरी संवेदना।”

अधिकारियों ने राहत-बचाव कार्य में नौकाओं और हेलीकॉप्टरों को लगाया है। जर्मनी की सेना ने राहत कार्य में मदद के लिए 200 सैनिकों को भेजा है।

अधिकारियों ने राहत-बचाव कार्य में नौकाओं और हेलीकॉप्टरों को लगाया है। जर्मनी की सेना ने राहत कार्य में मदद के लिए 200 सैनिकों को भेजा है।

बाढ़ के चलते बेल्जियम में भी मौतें और तबाही
पड़ोसी देश बेल्जियम से भी बाढ़ के चलते जान-माल के नुकसान की खबरें हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, बेल्जियम के पूर्वी वेर्वीस में नौ लोगों की मौत हुई है। देश के दक्षिणी और पूर्वी क्षेत्रों में कई राजमार्ग जलमग्न हो गए हैं और रेल-सड़क यातायात ठप हो गया है।

बेल्जियम के पूर्वी वेर्वीस में नौ लोगों की मौत हुई है। देश के दक्षिणी और पूर्वी क्षेत्रों में कई राजमार्ग जलमग्न हो गए हैं और रेल-सड़क यातायात ठप हो गया है।

बेल्जियम के पूर्वी वेर्वीस में नौ लोगों की मौत हुई है। देश के दक्षिणी और पूर्वी क्षेत्रों में कई राजमार्ग जलमग्न हो गए हैं और रेल-सड़क यातायात ठप हो गया है।

यूरोपीय संघ की अध्यक्ष ने मदद पहुंचाने का वादा किया
यूरोपीय संघ की अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेन ने प्रभावित लोगों की मदद का वादा किया है। उन्होंने ट्वीट किया- बेल्जियम, जर्मनी, लग्जमबर्ग और नीदरलैंड में विनाशकारी बाढ़ में जान गंवाने लोगों के परिजनों के प्रति मैं संवेदना व्यक्त करती हूं। इस विपदा में जिन लोगों के मकान नष्ट हो गए हैं, उनसे मुझे सहानुभूति है। यूरोपीय संघ मदद के लिए तैयार है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here