विराट से बेहतर क्यों हैं रोहित: अपनी कप्तानी में आज तक एक भी टूर्नामेंट नहीं हारे हिटमैन, 9 साल में कोहली ने 3 फाइनल गंवाए

0
9


भोपाल20 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

क्रिकेट के गलियारों में टीम इंडिया एक बार फिर से चर्चा का एक बड़ा विषय बनी हुई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, विराट कोहली आगामी टी-20 वर्ल्ड कप के बाद लिमिटेड ओवर की कप्तानी छोड़ रोहित शर्मा को सौंप सकते हैं। हालांकि BCCI के सूत्रों ने इस खबर से इंकार किया है।

काफी समय से चल रही है चर्चा
वैसे ये कोई पहला मौका नहीं है, जब विराट से कप्तानी लेकर रोहित को सौंप देने की बात सामने आई हो। पिछले दो सालों से क्रिकेट की दुनिया के कई जानकार ये बात कह चुके हैं कि, लिमिटेड ओवर न सही लेकिन कम से कम टी-20 फॉर्मेट की कमान हिटमैन के हाथों में सौंप देनी चाहिए। इसके पीछे की एकमात्र वजह रोहित शर्मा की IPL कप्तानी रही है।

2013 में मुंबई इंडियंस ने टूर्नामेंट के बीच में रिकी पोंटिंग से कप्तानी लेकर रोहित शर्मा को कमान सौंप एक बड़ा दांव खेला था। मुंबई का यह दांव टीम के काम आया और फ्रेंचाइजी पहली बार ट्रॉफी जीतने में सफल रही। इसके बाद रोहित ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

विराट कोहली को 2017 में भारतीय टीम के सभी फॉर्मेट का कप्तान बनाया गया था।

विराट कोहली को 2017 में भारतीय टीम के सभी फॉर्मेट का कप्तान बनाया गया था।

रोहित के साथ हुई स्वर्णिंम युग की शुरुआत
2013 में रोहित शर्मा ने पहली बार मुंबई को चैंपियन बनाया। वह यहीं नहीं रूके और उसी साल टीम को चैंपियंस लीग का विजेता भी बनाया। अनुभवी सलामी बल्लेबाज ने अपनी कप्तानी में मुंबई इंडियंस को 2015, 2017, 2019 और 2020 के IPL खिताब जीताए।

कोहली रहे फ्लॉप
एक तरफ जहां रोहित शर्मा एक के बाद सफलता के झंड़े गाड़ रहे थे, तो दूसरी तरफ विराट कोहली का बल्ला तो आग उगल रहा था लेकिन कप्तानी में वह कई सवालों के जवाब नहीं ढूंढ पा रहे थे। 2012 में विराट को RCB का कप्तान बनाया गया था, लेकिन 9 सालों में वह एक बार भी टीम को ट्रॉफी नहीं जीता सके। 2016 एकमात्र ऐसा मौका रहा था, जब कोहली की टीम फाइनल में पहुंची थी। मगर तब भी टीम के खिताब जीतने का सपना साकार नहीं हो सका और सनराइजर्स हैदराबाद बाजी मारने में सफल रही।

IPL हीं नहीं बड़े मंच पर भी मारी बाजी
2017 में रोहित शर्मा को पहली बार भारतीय टीम की कप्तानी करने का मौका मिला था। उस समय श्रीलंका के खिलाफ घरेलू सीरीज में विराट कोहली को रेस्ट दिया गया था और रोहित को टीम की कमान मिली थी। अभी तक 19 इंटरनेशनल टी-20 में भारतीय ओपनर ने कप्तानी करते हुए 15 में जीत दर्ज की, जबकि सिर्फ 4 में टीम को हार का सामना करना पड़ा। वनडे फॉर्मेट में भी रोहित में 10 मैचों में कप्तानी करते हुए 8 में सफलता हासिल की और मात्र 2 मैच हारे।

वहीं, विराट कोहली की कप्तानी की बात करें तो उनको भी 2017 में ही टीम के लिमिटेड ओवर का कप्तान बनाया गया था। अभी तक 45 टी-20 आई मैचों में उन्होंने 27 में जीत दर्ज की, जबकि 14 में टीम को हार का मुंह देखना पड़ा। 2 को परिणाम नहीं आ सका और दो मुकाबले टाई रहे। एकदिवसीय में कोहली ने 95 मैचों में टीम की कमान संभाली और 65 मुकाबले जीतने में सफल रहे। 27 में टीम का हार मिली और एक टाई और 2 का नतीजा नहीं आया।

बतौर कप्तान रोहित 5 आईपीएल जीत चुके हैं।

बतौर कप्तान रोहित 5 आईपीएल जीत चुके हैं।

इंटरनेशनल में खिताब को तरसते कोहली
IPL के साथ-साथ विराट कोहली इंटरनेशनल क्रिकेट में भी अपनी कप्तानी में टीम इंडिया को कोई बड़ा टाइटल नहीं जीता सके। उनकी कप्तानी में भारत ने 2017 की ICC चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल, 2019 के वनडे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल और इस साल खेले गए वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनाई थी। हालांकि, सभी में टीम का हार का सामना करना पड़ा।

वहीं, रोहित शर्मा ने हमेशा मिले मौकों पर चौका लगाते नजर आए। 2018 में रोहित ने अपनी कप्तानी में भारत को पहले निदहास ट्रॉफी जीताई और उसके बाद उसी साल एशिया कप जीताने में सफल रहे।

हैट्रिक पर रोहित की नजर
बहुत जल्द UAE में IPL 2021 का फेज-2 शुरू होने वाला है और इस बार रोहित शर्मा की निगाहें मुंबई इंडियंस को लगातार तीसरी बार खिताब जीताने पर रहेगी। वहीं, विराट कोहली की नजरें बतौर कप्तान अपने करियर का पहला बड़ा खिताब जीतने पर रहेगी।

बल्ले से भी खामोश है कोहली
पिछले 5 सालों की बात करें तो टी-20 आई और वनडे क्रिकेट में विराट कोहली ने 17 शतक लगाए हैं, जबकि रोहित शर्मा के बल्ले से दोनों फॉर्मेट में कुल 22 शतक देखने को मिले हैं। 2020 की शुरूआत से तो विराट के बल्ले से एक भी शतकीय पारी देखने को नहीं मिली है। ऐसे में टी-20 वर्ल्ड कप के बाद अब अगर विराट के कंधों पर से लिमिटेड ओवर्स की कप्तानी का बोझ ले लिया जाता है तो यह उनकी बल्लेबाजी और टीम के लिए काफी फायदे का सौदा होगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here