RCB टीम का SWOT एनालिसिस: कोहली-डिविलियर्स और मैक्सवेल पर रहेगा जीत दिलाने का दारोमदार, डेथ ओवर गेंदबाजी अभी भी है कमजोर

0
6


  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • IPL UAE 2021 Royal Challengers Bangalore SWOT Analysis | Indian Premier League (IPL) SWOT Analysis

भोपालएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

IPL 2021 के यूएई लेग का आगाज 19 सितंबर से होने वाला है। इसका सभी क्रिकेट फैंस बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। भारत में खेले गए सीजन के पहले चरण में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) ने काबिल-ए-तारीफ खेल दिखाया था। टीम ने 7 मैच खेले थे, जिसमें 5 मैचों में जीत दर्ज की थी और 2 मैचों में हार देखी थी। पॉइंट्स टेबल पर विराट की बोल्ड आर्मी 10 अंकों के साथ नंबर-3 पर काबिज है।

फेज-2 के शुरु होने से पहले टीम में काफी बदलाव देखने को मिले हैं। फ्रेंचाइजी में दुष्मंता चमीरा, वानिंदु हसरंगा, टिम डेविड और जॉर्ज गार्टन को शामिल किया है। इसके अलावा मुख्य कोच साइमन कैटिच के इस्तीफा देने के बाद टीम के ‘डायरेक्टर ऑफ क्रिकेट ऑपरेशन’ माइक हेसन को टीम का मुख्य कोच बनाया गया है। इन बदलाव के बाद टीम और भी ज्यादा मजबूत दिख रही है।

बात करें, UAE में खेले गए पिछले IPL सीजन की, तो RCB ने अच्छा खेल दिखाते हुए प्ले-ऑफ का सफर तय किया था, लेकिन टीम फाइनल में नहीं पहुंच सकी थी। लेकिन इस बार कोहली की टोली भारत में मिली शुरुआत को उसी लय के साथ आगे बढ़ाना चाहेगी, ताकि वह अपने पहली IPL ट्रॉफी की ओर कदम बढ़ा सके। चलिए इसी बात पर बचे हुए सीजन के लिए RCB की टीम का SWOT एनालिसिस करते हैं। यानी टीम की मजबूती (Strength), कमजोरी (Weakness), अवसर (Opportunity) और खतरे (Threat) का विश्लेषण।

स्ट्रेंथ-1 दमदार बैटिंग लाइन-अप
RCB की टीम लीग की सबसे दमदार टीमों में से एक है। बैटिंग लाइन-अप में टीम के पास एक से बढ़कर एक धुरंधर मौजूद हैं। फेज-1 के दौरान कैप्टन कोहली और देवदत्त पडिक्कल को ओपनिंग करते देखा गया था। फेज-2 के दौरान भी यही जोड़ी पारी का आागाज करती नजर आएगी। इसके बाद एबी डिविलियर्स और ग्लेन मैक्सवेल मिडिल ऑर्डर को मजबूती देते नजर आएंगे। मैक्सवेल को इस साल RCB ने 14.25 करोड़ में अपने साथ जोड़ा था और फेज-1 के दौरान उन्होंने भी अपने चयन को सही साबित किया।

विराट लीग के इतिहास के सबसे सफल बल्लेबाज हैं। उन्होंने 199 मैचों में 6076 रन बनाए हैं। वहीं, डिविलियर्स का बल्ला भी खूब आग उगलता हैं और उनके नाम पर 176 मैचों में 5056 रन दर्ज है। पिछले सीजन में देवदत्त पडिक्कल 473 रन के साथ RCB के टॉप स्कोरर रहे थे और मौजूदा सत्र में उनके बल्ले से एक शतक के साथ 195 रन निकल चुके हैं।

इनके अलावा टीम के पास विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए मशहूर मोहम्मद अजहरुद्दीन और डेनियल क्रिस्टियन भी मौजूद है। अजहरुद्दीन ने इस साल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में 194 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी कर सभी का ध्यान खींचा था। अजहर और क्रिस्टियन टीम के लिए एक बढ़िया फिनिशर की भूमिका निभा सकते हैं।

स्ट्रेंथ-2 स्पिन डिपार्टमेंट
यूएई लेग में RCB को अपने बचे हुए 7 मुकाबले अबु धाबी, दुबई और शारजाह में खेलने हैं। इस दौरान टीम दुबई में 3 जबकि अबु धाबी और शारजाह में 2-2 मैच खेलती नजर आएगी। टीम के पास अबु धाबी और दुबई के मैदानों की परिस्थितियों का फायदा उठाने के लिए कई अच्छे स्पिनर्स मौजूद हैं। इनमें युजवेंद्र चहल, वानिंदु हसरंगा और शाहबाज अहमद के नाम शामिल हैं। साथ ही ग्लेन मैक्सवेल भी पार्ट टाइम स्पिन करने में सक्षम हैं।

शाहबाज अहमद फेज-1 में विराट एंड कंपनी के लिए सरप्राइज पैकेज साबित हुए थे और 7 मैचों में 6 विकेट लेने में सफल रहे थे। भारत के खिलाफ हसरंगा ने भी अपनी गेंदबाजी से सभी को खासा प्रभावित किया था और अनुभवी चहल हर बार अपनी छाप छोड़ने में सफल रहते हैं।

कमजोरीः डेथ ओवर की गेंदबाजी
सालों से RCB के पास एक डेथ ओवर स्पेशलिस्ट की कमी रही है। अंतिम ओवर्स में हमेशा टीम के गेंदबाज पानी के तरह रन बहाते नजर आते हैं। इस सत्र में हर्षल पटेल ने टीम की इस परेशानी को बहुत हद तक दूर किया था, लेकिन उनको दूसरे छोर से बेहतर साथ नहीं मिला था। ऑक्शन में फ्रेंचाइजी ने न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज काइल जेमिसन को 15 करोड़ रुपए में खरीदा, लेकिन वह भी शुरूआती ओवर्स में टीम के लिए फायदेमंद रहे।

मोहम्मद सिराज ने IPL-14 के सात मैचों में 6 विकेट जरूर लिए, लेकिन उनका इकोनॉमी 7.35 का रहा। सिराज विकेट बेशक लेते हैं, लेकिन हर बार उनको रन लुटाते देखा जाता है। IPL के 42 मुकाबलों में उनका इकोनॉमी रेट 8.77 का रहा है। टीम को UAE में भी (17वें 20वें ओवर) तक एक अच्छे डेथ ओवर स्पेशलिस्ट की कमी खल सकती है।

अवसर

  • अटैकिंग बैटिंग लाइन-अप, मजबूत मिडिल ऑर्डर और गेंदबाजी में मिश्रण को देखते हुए टीम के पास अंतिम चार में जगह बनाने का शानदार मौका रहेगा।
  • टीम के सभी स्पिन गेंदबाज बढ़िया लय में हैं, जो RCB के लिए अच्छे संकेत हैं।
  • फेज-1 में हर्षल पटेल ने 17 विकेट लिए थे। RCB को फेज-2 में पटेल से ऐसे ही दमदार प्रदर्शन की उम्मीद रहेगी।

खतरा

  • टीम को वाशिंगटन सुंदर की कमी खल सकती है। सुंदर अपने ऑलराउंडर खेल से टीम को मजबूती देते थे, लेकिन इस बार वह चोटिल होने के चलते टूर्नामेंट का हिस्सा नहीं बन सकेंगे।
  • पिछले सीजन में टीम ने UAE के मैदानों पर आखिरी के लगातार 5 मैच गंवाए थे। UAE में टीम ने ओवरऑल 20 मैच खेले हैं। इसमें टीम 9 में जीत दर्ज करने में सफल रही, जबकि 11 में टीम को हार मिली। इन मैदानों पर टीम का जीत प्रतिशत सिर्फ 45 रहा है।
  • लेग स्पिनर वानिंदु हसरंगा, तेज गेंदबाज दुष्मंत चमीरा और सिंगापुर के बल्लेबाज टिम डेविड के पास IPL का कोई अनुभव नहीं है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here